WWW.BRDSTUDY.ONLINE

Post Top Ad

>

Rbse 10th Class Social Science Notes अध्याय 6 केंद्र सरकार

 अध्याय 6  केंद्र सरकार

सरकार का अर्थ एवं परिभाषा:- राज्य एक भावात्मक अवधारणा है जो एक अमूर्त एवं अदृश्य संस्था होती है इसे मूर्त रूप प्रदान करने वाली संस्था को ही सरकार कहा जाता है सरकार द्वारा राज्य की सामूहिक इच्छा को निर्धारित अभिव्यक्त एवं कार्यान्वित किया जाता है राज्य सरकार ही राज्य रूपी भावात्मक अवधारणा की अभिव्यक्ति है सरकार के अभाव में राज्य की कल्पना नहीं की जा सकती है जो राज्य के निश्चित भूभाग में बसने वाले लोगों की सेवा करने हेतु कानूनों का निर्माण करती है तथा उसका निष्पादन करती है उनका उचित रूप से पालन नहीं करने वाले लोगों को दंडित किया जाता है।

सरकार व मशीन है जिसके द्वारा राज्य की नीतियां निर्धारित की जाती है सामान्य मामलों को नियमित किया जाता है तथा सामान्य हितों को उन्नत किया जाता है 

सरकार के तीन प्रमुख अंग होते हैं व्यवस्थापिका, कार्यपालिका, न्यायपालिका

व्यवस्थापिका:- सरकार के 3 अंगों में व्यवस्थापिका प्रथम अंग है 

भारतीय राजव्यवस्था में व्यवस्थापिका का गठन दोस्तर पर होता है संज्ञा व्यवस्थापिका तथा राज्य व्यवस्थापिका संविधान में संज्ञा व्यवस्थापिका को संसद कहते हैं।

संविधान के अनुच्छेद 79 द्वारा व्यवस्था की गई है कि भारतीय संघ की एक संसद योग्य जिसका निर्माण राष्ट्रपति तथा दोनों शब्दों से मिलकर होगा जिनके नाम क्रमशः लोकसभा तथा राज्यसभा होंगे इस प्रकार राष्ट्रपति लोकसभा तथा राज्यसभा तीनों का संयुक्त नाम संसद है।

लोकसभा:- लोकसभा संसद का प्रथम या निम्न सदन है इसे लोकप्रिय सदन भी कहते हैं क्योंकि इसके सदस्य जनता द्वारा प्रत्येक रूप से निर्वाचित होते हैं।

1. सदस्य संख्या:- मौसम विधान में लोकसभा की सदस्य संख्या 500 निश्चित की गई थी लेकिन समय-समय पर इसमें वृद्धि की गई अब गोवा दमन और दीव पुनर्गठन अधिनियम के द्वारा निश्चित किया गया कि लोकसभा की अधिकतम संख्या 552 हो सकती हैं इनमें से अधिकतम 530 सदस्य राज्य के निर्वाचित छात्रों सेवा अधिकतम भी सदस्य संख्या छात्रों से निर्वाचित होंगे एवं राष्ट्रपति आंग्ल भारतीय वर्ग के दो सदस्यों का मनोनयन कर सकेंगे।

2. निर्वाचन लोकसभा सदस्यों का चुनाव प्रत्यक्ष रुप से और व्यस्क मताधिकार के आधार पर होता है भारत में अब 18 वर्ष की आयु प्राप्त व्यक्ति को वैध माना जाता है लोकसभा के सभी निर्वाचन क्षेत्र एकल सदस्य रखे गए हैं।

3. सदस्यों की योग्यता:- मैं भारत का नागरिक को उसके आयु 25 वर्ष से अधिक हो भारत सरकार अथवा किसी राज्य सरकार के अंतर्गत वह किसी लाभ का पद धारण नहीं करता हो वह किसी न्यायालय द्वारा पागल नहीं ठहराया गया हो तथा दीवालया न हो।

4. कार्यकाल लोकसभा का कार्यकाल:- 5 वर्ष में प्रधानमंत्री के परामर्श के आधार पर राष्ट्रपति के द्वारा लोकसभा को समय से पूर्व भंग किया जाता है यह अब तक 9 बार किया गया है


सम्पूर्ण नोट्स 👇👇

No comments:

Post a comment

close