WWW.BRDSTUDY.ONLINE

Post Top Ad

>

RBSE Class 10th Science Handwritten Notes 2021 अध्याय 3 अनुवांशिकी

                              अध्याय - 3 अनुवांशिकी(Genetics)


आनुवंशिकी- जीव विज्ञान की वह शाखा जिसमें संजीव के लक्षणों की अनुवांशिकता एवं विभिनताओअध्ययन किया जाता है। उसे आनुवंशिकी कहते हैं।

 जेनेटिक शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम बेटसन किया था।

अनुवांशिक लक्षण- संख्याओं में लैंगिक जनन क्रिया के समय युग्मको द्वारा विभिन्न लक्षणों का पीढ़ी दर पीढ़ी संचरण होता रहता है। इन लक्षणों को अनुवांशिक लक्षण कहते हैं।

आनुवांशिक लक्षणों का जनक पीढ़ी से  में संचरण ही वंशागति कहलाता है।

हेरेडिटी शब्द का प्रतिपादन स्पेंसर ने किया था

ग्रेगर जॉन मेंडल को आनुवंशिकी का जनक कहा जाता है। मेंडल महोदय उद्यान मटर पर किए गए संक्रमण प्रयोगो के परिणाम के आधार पर वंशागति के नियमों का प्रतिपादन किया।


सम्पूर्ण नोट्स 👇👇


No comments:

Post a comment

close