WWW.BRDSTUDY.ONLINE

Post Top Ad

>

RBSE 10th Class Science Handwritten Notes Chapter 6 रासायनिक अभिक्रिया एव उत्प्रेरक

अध्याय 6 -   रासायनिक अभिक्रिया एवं  उत्प्रेरक(Chemical reaction and Catalyst)


हमारे जीवन में बहुत सारी रासायनिक घटनाएं प्रतिदिन घटित होती है जिनमें पदार्थों का दूसरे रूपों में परिवर्तन होता रहता है इन्हीं परिवर्तनों को भौतिक व रासायनिक परिवर्तन कहते हैं

भौतिक परिवर्तन(Physical Change):- 

  • ऐसा परिवर्तन जिसमें परिवर्तन का कारण हटाने पर पुणे प्रारंभिक पदार्थ प्राप्त होता है उसे भौतिक परिवर्तन कहते हैं।
  • भौतिक परिवर्तन में भौतिक गुण में परिवर्तन होता है।
  • भौतिक परिवर्तन अस्थायी परिवर्तन होता है।
  • भौतिक परिवर्तन में नहीं पदार्थ का निर्माण नहीं होता है।
  • उदाहरण- लोहे का चमक बनाना, नौसादर का उर्ध्वपातन, शकर का पानी में विलय होना, आदि।
रासायनिक परिवर्तन(Chemical  change):-

  • ऐसा परिवर्तन जिसमें पदार्थों के रासायनिक गुणों में परिवर्तन होता है
  • इसमें नए पदार्थों का निर्माण होता है।
  • रासायनिक परिवर्तन में परिवर्तन का कारण हटाने पर पुनः प्रारंभिक पदार्थ प्राप्त नहीं होता है।
  • रासायनिक परिवर्तन स्थाई परिवर्तन होता है।
  • उदाहरण- दूध से दही जमना, बनी हुई सब्जियों का खराब होना, लोहे पर जंग लगना आदि।

रासायनिक अभिक्रिया(Chemical Reaction):- किसी पदार्थ में रासायनिक परिवर्तन होना ही रासायनिक अभिक्रिया कहलाती हैं। रसायनिक अभिक्रिया के दौरान उत्पादों का निर्माण होता है परंतु पदार्थ का द्रव मान संरक्षित रहता 

विस्थापन अभिक्रिया:- ऐसी अभिक्रिया जिसमे एक अभिकारक में उपस्थित परमाणु या परमाणु का समूह दूसरे अभिकारक के परमाणु या परमाणु समूह द्वारा विस्थापित होता है इन अभिक्रिया में अभी कारकों के पहले से बने बंध टूटते हैं और नए बँधो का निर्माण होता है। उसे विस्थापन अभिक्रिया कहते हैं।

संपूर्ण नोट्स 👇👇



No comments:

Post a comment

close